National Rural Livelihood Mission 2023 (NRLM), जाने पुरी प्रक्रिया राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन 2023 योजना के Benefits, Registration And Application Process

National Rural Livelihood Mission 2023 : नमस्कार दोस्तों, हमारे आज के इस आर्टिकल में तहे दिल से स्वागत है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप सभी को उत्तर National Rural Livelihood Mission 2023 के बारे में विस्तारपूर्वक बताएंगे। जिसमे, हम आप सभी को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन 2023 इत्यादि के बारे में बताएंगे।इन सभी जानकारियों के बारे में जानने के लिए, आपको इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना होगा। क्या आप भारत के ग्रामीण क्षेत्र से ताल्लुक रखते हैं, यदि हाँ, तो आपने NRLM पूरा नाम राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन-National Rural Livelihood Mission का नाम अवश्य सुना होगा। आपने अपने गांव में 10 से 20 महिलाओं को समूह बनाते हुए देखा होगा। ये समूह NRLM Yojana के तहत ही बने हैं। NRLM Yojana केंद्र सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा संचालित की जाती है, जिसे 01 अप्रैल 2013 को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के रूप में पुनर्गठित किया गया था, पूर्व केंद्र सरकार की योजना स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना (SGSY) का पुनर्गठन करके। यह Yojana ग्रामीण इलाकों में रहने वाले गरीब लोगों के कल्याण के लिए बनाई गई है।

जैसा कि आप लोग जानते ही होंगे।,कि हमारा देश जनसंख्या के मामले में दुनिया में दूसरे स्थान पर है, ऐसे में सरकार के लिए सभी को रोजगार मुहैया कराना बहुत मुश्किल होता है। इसी को ध्यान में रखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य को पूरा करने के लिए यह Yojana शुरू की गई है, ताकि उन्हें शहरों की ओर जाना न पड़े।

अब ग्रामीण क्षेत्रों को आत्मनिर्भर बनाना, और गांवों से शहरों की ओर पलायन रोकना, ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना, स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराना, सरकार के इन सभी उद्देश्यों को इस Yojana के माध्यम से पूरा किया जा सकता है। इस आर्टिकल में हम NRLM Yojana क्या है, NRLM का उद्देश्य क्या है, इसके बारे में विस्तार से बताएंगे आप पूरा आर्टिकल पढ़ें।

अन्त, आर्टिकल के अन्त में, हम आपको क्विक लिंक्स प्रदान करेगे ताकि आप सभी आसानी से इसी प्रकार के आर्टिकल्स को प्राप्त कर सकें।

Read Also–Sauchalay Ka Paisa Kab Milega 2023: जाने कब मिलेगा शौचालय का पैसा?

दोस्तों Scholarship, Cyber Café, Sarkari Naukari ,Etc से जुडी पल पल की अपडेट के लिए आप हमारे Telegram channel  को जरुर से जरुर Join कर लीजियेगा जिसका लिंक आपको निचे दिया गया है ।

Important Link

Join Telegram

National Rural Livelihood Mission 2023:-Overview

आर्टिकल का नाम  National Rural Livelihood Mission 2023
आर्टिकल का प्रकार  लेटेस्ट अपडेट 
Post Date  17-03-2023
किस मंत्रालय के अधीन है। ग्रामीण विकास मंत्रालय (एमओआरडी)
शुरुआत 01 अप्रैल 2013
कौन लाभान्वित होंगे। ग्रामीण भारत के गरीब लोग।
Official Website  Click Here

National Rural Livelihood Mission 2023

NRLM की शुरुआत कब हुई ?

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन: वर्तमान में लगभग सभी राज्यों में यह Yojana लागू है। लेकिन इसे भी सभी राज्यों में अलग-अलग नाम दिया गया है। अगर हम शुरुआत की बात करें तो 1999 में भारत सरकार के ग्रामीण Vikas मंत्रालय द्वारा पहली बार स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना (SGSY) नाम की एक Yojana चलाई गई थी। जिसे 2013 में पुनर्गठित कर राष्ट्रीय ग्रामीण Jeevika Mission के रूप में क्रियान्वित किया गया।

29 मार्च, 2016 को इसे एक बार फिर से DAY-NRLM Deendayal Antyodaya Yojana – National Rural Livelihoods Mission के रूप में पुनर्नामित किया गया। यह कार्यक्रम सरकार द्वारा मजबूत संस्थानों के निर्माण और गरीबों मुख्यतः महिलाओं को वित्त और Jeevika Seva सेवा जैसी सेवाओं से जोड़ने के लिए तैयार किया गया एक प्रमुख कार्यक्रम है।

और उक्त कार्यक्रम मैं गरीबों विशेषकर महिलाओं के लिए सशक्त संस्थाएँ बनाने और उन्हें वित्तीय सेवाओं एवं आजीविका सेवाओं से जोड़ने का सरकार का मुख्य कार्यक्रम है।

उस समय इसका मुख्य उद्देश्य BPL परिवारों को ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराकर गरीबी रेखा से बाहर लाना था। समय-समय पर इसके स्वरूप में परिवर्तन होता रहा है। वर्तमान में इसे दीनदयाल अंत्योदय Yojana-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन DAY-NRLM के रूप में नया नाम दिया गया है।

National Rural Livelihood Mission 2023

NRLM यानी राष्ट्रीय  Gramin Jivika Missionग्रामीण आजीविका मिशन इसे DAY-NRLM Deendayal Antyodaya Yojana – National Rural Livelihoods Mission भी कहा जाता है। NRLM भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय (MoRD- Ministry of Rural Development) द्वारा लागू की गई एक योजना है। इसका उद्देश्य सरकार द्वारा ग्रामीण गरीबों के लिए एक कुशल और प्रभावी संस्थागत मंच तैयार करना है | ताकि वे सशक्त हो सकें।

जिससे ग्रामीणों को उनके गांव में ही आय के स्रोत उपलब्ध कराये जा सकें। ताकि वे Jeevika संवर्धन के माध्यम से अपनी आय बढ़ा सकें। इसके माध्यम से ग्रामीणों को उनके गांव में ही रोजगार उपलब्ध होगा, और ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी को कम किया जा सकता है। इसकी शुरुआत 2011 में हुई थी। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के लिए वित्तीय सहायता विश्व Bank द्वारा दी जाती है।

NRLM scheme 2023

राष्ट्रीय जीविका मिशन Yojana में स्वयं सहायता समूहों और संघीय सहायता के माध्यम से लगभग 600 जिलों, 6769 ब्लॉकों, 2.5 लाख ग्राम पंचायतों और 6 लाख गांवों में लगभग 7 करोड़ BPL गरीबी रेखा से नीचे Card धारकों को इसके दायरे में लाने की योजना है। 8-10 वर्ष तक जीविकोपार्जन चलाने के लिए आश्यक सहयोग देकर सरकार द्वारा एक कार्यक्रम के माध्यम से इसे पूरा किया जाएगा

केंद्र सरकाके ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा शुरू की गई इस Yojana के माध्यम से ग्रामीणों को कौशल प्रदान करना, उन्हें सक्षम बनाना और स्थानीय स्तर पर रोगार उपलब्ध कराना मुख्य उद्देश्य है। स्वयं सहायता समूहों SHGS के माध्यम से लाखों ग्रामीण महिलाओं के समूहों का गठन किया गया है। इस महिला सशक्तिकरण को काफी बल मिला है, और गांव की महिलाएं सशक्त हो रही हैं। इसने ग्रामीण गरीब आबादी के बीच ज्ञान, संसाधनों, कौशल और आर्थिक आत्मनिर्भरता का विकास किया है।

NRLM की कार्य योजना काम कैसे  करता है ?

National Rural Livelihood Mission 2023: NRLM Scheme 2023 मुख्य रूप से Gramin क्षेत्र में बने एक ही आय वर्ग समूह द्वारा लागू की जाती है। अब आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि ये ग्रुप क्या होते हैं, कैसे बनते हैं। आइये हम इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

 SHG (Self help group) kya होते है? 

SHG Full Form : SHG का पूरा नाम Self Help Group SHG In Hindi – स्वयं सहायता समूह है। इसमें समान आय वाली ग्रामीण क्षेत्र की 10 से 20 महिलाओं के समूह बनाए जाते हैं। जिसे हम स्वयं सहायता समूह (SHG) कहते हैं, उसमें एक शर्त होती है | कि इस समूह में शामिल होने वाली महिलाओं में आर्थिक असमानता नहीं होनी चाहिए।

वित्तीय असमानता का मतलब है कि कोई बेहद गरीब परिवार से है, तो कोई उनसे बेहतर स्थिति में है। यदि ऐसा किया जाता है, तो समूह में मजबूत स्थिति रखने वाली महिलाओं का ही प्रभुत्व रहेगा। इस प्रकार गरीब महिलाओं का शोषण होगा और उन्हें जो लाभ मिलना चाहिए वह नहीं मिल पाएगा।

समूह के गठन के बाद सदस्यों की बैठक होती है, जिसमें तीन पदाधिकारियों का चयन किया जाता है। समूह के किन्हीं तीन सदस्यों को अध्यक्ष, कोषाध्यक्ष और सचिव के रूप में नियुक्त किया जाता है। इन पदाधिकारियों को समूह संचालन की जिम्मेदारी दी जाती है। इन दायित्वों में समूह की उप-बैठक करनी होती है कि किस सदस्य को ऋण दिया गया है, बैंक में पैसा जमा करना या बैंक ऋण संबंधी समस्त कार्य इन पदाधिकारियों के पास रहता है।

समूह के गठन के बाद सर्वसम्मति से एक नाम चुना जाता है, उसी नाम से एक Bank Account खोला जाता है। इस बैंक खाते में समूह के सदस्यों द्वारा की गई बचत जमा की जाती है। बाद में इसी जमा के आधार पर NRLM बैंक लिंकेज (

CCL की सीमा निर्धारित की जाती है। इसके माध्यम से ऋण स्वीकृत किया जाता है, जिसमें सरकार द्वारा अच्छी खासी सब्सिडी भी दी जाती है। इस बैंक लिंकेज लोन पर ब्याज काफी कम है।

National Rural Livelihood Mission के 3 स्तंभ

NRLM तीन स्तरों पर काम करती है जो ,कि इस प्रकार से है-

  • गरीबों के लिए Jeevika के विकल्पों को बढ़ाना और उनका विस्तार करना।
  • रोजगार के लिए गरीबों को Kaushal प्रदान करना।
  • अच्छे उद्योगों के लिए स्वरोजगार एवं उद्यमियों का पोषण करना।

अन्त, आर्टिकल के अन्त में, हम आपको क्विक लिंक्स प्रदान करेगे ताकि आप सभी आसानी से इसी प्रकार के आर्टिकल्स को प्राप्त कर सकें।

Read Also –CTET Certificate MarkSheet Download 2023: CTET परीक्षा की मार्कशीट और प्रमाणपत्र डाउनलोड यहाँ से करें

NRLM SHG के लाभ

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन Yojana National Rural Livelihoods Mission scheme 2023 यदि सरकार द्वारा बनाई गई है तो इसके पीछे कुछ उद्देश्य थे। प्रवास, स्थानीय स्तर पर रोजगार, लोगों में संगठन की भावना पैदा करना, ग्रामीण महिलाओं को समर्थ बनाना आदि अन्य उद्देश्य थे। आइये जानते हैं इसके फायदों के बारे में।

  • NRLM scheme 2023 के तहत SHG में 10 से 20 लोगों का समूह बनाया जाता है। इससे लोगों में मिलजुल कर काम करने से संगठन और एकता की भावना पैदा होगी, इससे सामाजिक भावना और बढ़ेगी।
  • गरीब ग्रामीण आबादी जो सरकारी योजनाओं से कोसों दूर है। जहां कभी भी सरकारी योजना नहीं पहुंचती है। समूह के माध्यम से ही समूह बनाकर बचत राशि जमा कराई जाएगी और उन्हें सरकारी Yojana का लाभ भी मिल सकेगा।
  • हमारे देश में एक अच्छी शिक्षा नीति है, जिसमें हर तरह की पढ़ाई के बारे में विस्तार से जानकारी होती है। लेकिन एक बात का कभी भी अध्ययन नहीं किया जाता है कि अगर हम पढ़ाई करके या किसी और तरीके से काम करके पैसा कमाना शुरू कर दें। NRLM SHG एक संस्था के तौर पर काम करती है, इसकी जागरूकता भी आपकी मासिक बचत से आएगी।
  • और इसके माध्यम से लोगों को आत्मनिर्भर बनाया जाएगा।और उनको किसी के भी सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और फिर कर्ज नहीं लेना पड़ेगा।
  • महिलाओं का सशक्तिकरण होगा तथा ग्रीष्मकालीन पलायन आसानी से रोका जा सकेगा।
  • लोगों को अपने गांव में ही रोजगार मिलेगा और इससे वे गांव में ही एक अच्छी जिंदगी बिता सकते हैं।
  • स्व-सहायता समूह स्व-रोजगार की ओर प्रोत्साहित करेंगे।

स्वयं सहायता समूह (SHGs) के लिए दस्तावेज

  • मोबाईल नंबर
  • बैंक पासबुक
  • राशन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

NRLM PORTAL पर REGISTRATION कैसे कराए ?

NRLM scheme 2023 का संचालन SHGS के माध्यम से होता है। इस Yojana के तहत सर्वप्रथम समूह का गठन किया जाता है। समूह गठन के बाद राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन National Rural Livelihood Mission 2023 की Official Website पर जाकर  Online Registration  किया जाता है। जिसमें CCL की सीमा पदाधिकारियों द्वारा उनकी बचत, बैठक उपस्थिति पंजिका आदि के Aadhar पर निर्धारित की जाती है, जिसे NRLM Portal पर Upload किया जाता है।

Online Apply करने के बाद फाइल Bank पहुंच जाती है। उनके नियमों और शर्तों को ध्यान में रखते हुए Bank Block द्वारा भेजे गए प्रस्ताव पर विचार करते हुए प्रत्येक वर्ष के लिए बढ़ते क्रम में CCL की सीमा निर्धारित करता है। जिसे समूह के पदाधिकारी आवश्यकता के अनुसार छोड़ सकते हैं।

NRLM SHG Bank Loan Proposal

देश का कोई भी स्वयं सहायता समूह Bank ऋण लेने के लिए Online आवेदन इस प्रकार कर सकता है –

  • सबसे ज्यादा इसके लिए आपको NRLM की Official Website nrlm.gov.in पर जाना होगा।
  • Website से Home Page पर आपको “Quick link” सेक्शन SHG Bank Loan का Link दिखाई देगा, उस पर Click करें।
  • आपके सामने एक Page खुलेगा जहां आपको प्रपोजल Form भरने के लिए सबसे पहले 3 चरण पूरे करने होंगे।
  • 3 चरणों को पूरा करने के बाद, Log-in बटन पर Click करें और उपयोगकर्ता ID और Password दर्ज करें।
  • जैसे ही आप Login करेंगे आपके सामने आवेदन Page खुल जाएगा।
  • सभी जानकारी सही-सही भरें और Submit बटन पर Click कर देना है।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की राज्यवार सूची –

Name of the State Name of the SRLM
उत्तर प्रदेश Uttar Pradesh Skill Development Mission (UPSDM)
पश्चिम बंगाल Paschim Banga Society for Skill Development (PBSSD)
छत्तीसगढ़ Chhattisgarh State Rural Livelihoods Mission
केरल Kudumbashree
आंध्र प्रदेश EGMM
तमिलनाडु Tamilnadu Corporation for Development of Women Ltd.
तेलंगाना EGMM
पंजाब Punjab Skill Development Mission
राजस्थान RSLDC
हरियाणा HSRLM
जम्मू कश्मीर Himayat Mission Management Unit, Jammu & Kashmir State Rural Livelihoods Mission (JKSRLM)
उत्तराखंड USRLM
उड़ीसा Odisha Rural Development and Marketing Society.
महाराष्ट्र Maharashtra State Rural Livelihoods Mission
गुजरात Gujarat Livelihood Promotion Company (GLPC)
मध्य प्रदेश MP State Rural Livelihood Mission
असम ASRLM
त्रिपुरा Tripura Rural Livelihoods Mission Society
बिहार Bihar Rural Livelihoods Promotion Society

Important Link

महत्वपूर्ण लिंक

Join Telegram Group  Click Here 
Official Website  Click Here 

निष्कर्ष:- दोस्तों, आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आप सभी को National Rural Livelihood Mission 2023 के बारे में विस्तार पूर्वक बताया है।जिसमें हमने आप सभी को इस योजना से जुड़ी सारी जानकारियां, जैसे-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन और भी महत्वपूर्ण जानकारियों को विस्तार पूर्वक बताया है। अगर आप को दी गई जानकारी पसंद आई हो, तो इसे अपने दोस्तों और फैमिली मेंबर्स के साथ Share अवश्य करें।

FAQ’s:- National Rural Livelihood Mission 2023

Q1):-समूह में कितना पैसा आता है ?

Ans-स्वयं सहायता समूह का गठन तीन महीना होने के बाद समूह को 1500 की धनराशि भारत सरकार की तरफ से दिया जाता है। उसके बाद जब समूह को बने हुए 6 महीने होता है तो सरकार समूह को 15000 रूपये देती है।

Q2):-आजीविका का क्या कार्य है ?

Ans- कोई व्यक्ति जीवन के विभिन्न कालावधियों में जिस क्षेत्र में काम करता है या जो काम करता है, उसी को उसकी आजीविका या ‘वृत्ति’ या रोजगार या करिअर कहते हैं। आजीविका प्रायः ऐसे कार्यों को कहते हैं जिससे जीविकोपार्जन होता है। शिक्षक, डाक्टर, इंजिनीयर, प्रबन्धक, वकील, श्रमिक, कलाकार, आदि कुछ आजीविकाएँ हैं।

 

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम आपतक सबसे पहले अपने इस Website के माधयम से पहुँचआते रहेंगे Sarkariinformation.com, तो आप हमारे Website को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Share जरूर करें

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद,,,

नीचे दिए गए सोशल मीडिया के आइकॉन पर क्लिक करके आप हमारे साथ जुड़ सकते हैं जिससे आने वाली नई योजना की जानकारी आप तक पहुंच सके |

Join Job And News Update

For Telegram For Twitter
FaceBook Instagram
For Website For YouTube

Leave a Comment